सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

जून, 2008 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

नीरज जी की कलम

The Power of Truth , ब्लॉग अपने तरह का अनोखा हिन्दी ब्लाग है Neeraj Nayyar जो भोपाल और आगरा से सम्बंधित हैं पाकिस्तान के हालात पर आंसू क्यों बहाएं गिरावट से सबक सीखने का वक्त भारत के लिए सिरदर्द बनेगा नेपाल चाल चलने में लगा चीन में आपको एक गहरी समझ में गोते लगाने वाले ब्लॉगर के लक्षण मिलेंगे । बेबाक लेखन गहरी अध्ययनशीलता और साफ़ सुथरे ब्लॉग नीरज जैसे ही लोग पेश कर सकतें है । बधाइयों के अलावा और कोई शब्द नहीं है मेरे पास ।

जिंदगी मुझे मंजूर है....!

ज़िंदगी मुझे मंज़ूर है तुझे खोजना कूड़े-करकट के ढेर में ढेर में छिपी पन्नियों में.....! और और उन बीमारियों में जो मिलेगी मुझे इस कूड़े में.....? ज़िंदगी यहीं से मिलेगी वे पन्नियाँ जिनसे उगेगी रोटियाँ रोटियाँ जो पेट भरेंगी मेरी उस माँ का जिसने फुटपाथ पे मुझे जना था। वो माँ जो अलग-अलग पुरुषों को मेरा बाप बताती थी ! हाँ वही माँ जिसकी बेटियाँ दस बरस के बाद कभी साथ न रही जी हाँ ! वही माँ जो ममता भरी आंखों से मुझे टक-टकी बांधे निहारती जब टक मैं घर नहीं लौटता । वो माँ जो मेरी भगवान है जिसे दुनियाँ से कोई शिकायत नहीं

अन्तरजाल पर सुखद अनुभूतियाँ

रंजू ranju जी ने अमृता प्रीतम की याद में पोस्ट प्रकाशित कर जहाँ अभिभूत किया है । वहीं दूसरी ओर मुद्दत हुई है यार को मेहमां किये हुए पोस्ट भी असरदार है लेकिन मीत साहब कलकत्ता वालों के इस ब्लॉग किस से कहें ? पे पहुंचा तो दंग रह गया। किस से कहें ? ब्लॉग खजाना है अन्तर जाल पे लुटा रहे हैं अपने मीत जी इनकी जितनी तारीफ़ करुँ कम है । । MANAS BHARADWAJ --THE LAST POEM IS THE LAST DESIRE ब्लॉग है मानस भारद्वाज का जो इंजीनियरिंग की पढाई में व्यस्त होकर भी पोस्ट करतें हैं एक कविता लगभग रोज़ ....!

"सावधान सतयुग आ रहा है...!"

उडन तश्तरी ....: रोज बदलती दुनिया कैसी... को पड़कर याद सी आ रही है अशोक चक्रधर की वो कविता जिसमें आम आदमी को दूसरे के मन की बात पड़ने की शक्ति मिल जाती है । कैसे कैसे मजेदार सीन उभारतें हैं उस कविता चकल्लस वाले भैया जी ........! मैँ गंभीर हो गया हूँ इस मुद्दे पर डर भी लग रहा है सरकारी आदमीं हूँ रोज़िन्ना झूठ की सेंचुरी मारने के आदेश हैं इस सिस्टम के......? सो सोचा रहा हूँ कि व्ही0 आर0 एस0 ले लूँ....? वो दिन दूर नहीं जब तकनीकी के विकास के की वज़ह से लाईडिटेक्टर मशीन,ब्रेन-मेपिंग मशीन,आम आदमी की ज़द में आ सकती है और फ़िर सतयुग के आने में कोई विलंब न होगा ।

प्रतियोगिता:-"गीत लिखिए" अन्तिम तिथि 15 जुलाई 2008

प्रतियोगिता:-"गीत लिखिए" :-"ख़ुद से कैसे भाग सकेगा अंतस पहरेदार कड़क हैं" इस मुखड़े पे गीत लिख भेजिए अन्तिम तिथि 15 जुलाई 2008 email:- girishbillore@gmail.com अथवा girishbillore@hotmail.com मुझे आपके एक गीत की प्रतीक्षा है अन्तिम तिथि तक प्राप्त गीत प्रकाशित कर दिए जाएंगे प्रकाशित गीतों पर विशेषज्ञों की राय,(गुणांक),तथा पाठकों की राय (गुणांक) के आधार पर विजेताओं की घोषणा कर दी जावेगी ! पुरूस्कार राशी के रूप में न होकर "...........................!" के रूप में होगा

कचनार विशेषांक:अनुभूति में

अनुभूति का कचनार विशेषांक में आपका भ्रमण ज़रूरी सा हो गया है । आपकी टिप्पणियाँ सादर आमंत्रित हैं सादर

प्रतियोगिता:-"गीत लिखिए"

प्रतियोगिता:-"गीत लिखिए" :-"ख़ुद से कैसे भाग सकेगा अंतस पहरेदार कड़क हैं" इस मुखड़े पे गीत लिख भेजिए अन्तिम तिथि 30 जून 2008 email:- girishbillore@gmail.com अथवा girishbillore@hotmail.com नियमों की प्रतीक्षा कीजिए मुझे आपके एक गीत की प्रतीक्षा है अन्तिम तिथि तक प्राप्त गीत प्रकाशित कर दिए जाएंगे प्रकाशित गीतों पर विशेषज्ञों की राय,(गुणांक),तथा पाठकों की राय (गुणांक) के आधार पर विजेताओं की घोषणा कर दी जावेगी ! पुरूस्कार राशी के रूप में न होकर "...........................!" के रूप में होगा !!