2010 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
2010 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

मंगलवार, नवंबर 2

"मिसफ़िट की ओर से दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं"

आओ हम मिल दूर करें आज सबके अंतस के अंधकार
दीपशिखाओं की ज्योति से रोशन हो सबके घर-द्वार
        निश्छल ,निर्मल पावन मन में स्वर्ण रश्मियाँ हों अपार
                                             बिना भेद के सब मिल जाएं,दिल में हों बस प्यार ही प्यार
...( अर्चना )


नन्हें  दीपों  की  माला से  स्वर्ण रश्मियों का विस्तार -
 बिना भेद के स्वर्ण रश्मियां  आया बांटन ये    त्यौहार !
    निश्छल निर्मल पावन मन ,में भाव जगाती दीपशिखाएं ,
 बिना भेद अरु राग-द्वेष के सबके मन करती उजियार !! “(गिरीश)


गिरीश बिल्लोरे                                                  अर्चना चावजी