सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

time-tour लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

समय यात्रा असंभव है

             [ टाइम मशीन के ज़रिये समय यात्रा  {  time-tour } के सन्दर्भ में मेरा पिछ्ला आलेख :-  ये भी नहीं अरे भाई ये नये भी नहीं !   आपने अगर न देखा हो तो कृपया इस लिंक पर पहले उसे देखिये फिर यहाँ उसी तारतम्य में इस आलेख को पढ़िए ] ये भी नहीं अरे भाई ये न ये भी नहीं ! शीर्षक से लिखे आलेख में टाइम-ट्रेवल को या टाइम टूर को लेकर  तार्किक आधार पर पूरी ज़िम्मेदारी के साथ इस अवधारणा को खारिज करता हूँ.      यात्रा का अर्थ समझने के पूर्व सभी समझते ही हैं कि यात्रा एक भौतिक क्रिया है . जिसकी दिशा, गति, उद्देश्य, माध्यम, और यात्री सब कुछ तय शुदा है. ये तय करने वाला शरीरी होता है जिसे यात्री कहा जाता कि उसे किस  दिशा, गति, उद्देश्य, माध्यम, से यात्रा करनी है. आइये आगे टाइम-ट्रेवल की थ्यौरी की विवशाताओं को   दिशा, गति, उद्देश्य, माध्यम, आदि के साथ-साथ  कर लेते हैं  दिशा :- हर यात्रा की दिशा तय है अर्थात दस डायरेक्शन में से कोई कहीं भी जा सकता है. तय जाने वाले को करना है. समय  की कोई दिशा तय नहीं होती . उदाहरणार्थ आज 3 जुलाई 2018 है कल 2  जुलाई 2018 थी. मुझे बीते कल के 12:45 बजे में जाना

ये भी नहीं अरे भाई ये न ये भी नहीं !

1928 में आई एक फिल्म में सेलफोन की क्लिपिंग  आज जिस बिंदु पर चर्चा करना चाहता हूँ वो सनातन शब्द – नेति नेति या    नयाति नयाति ... अर्थात ये भी नहीं अरे भाई ये न ये भी नहीं ! दिनों से एक बात कहनी थी   परन्तु सोचता था कि – संभव है कि आगे आने वाले और बीते समय की यात्रा की जा सकती है. परन्तु वास्तव में यह एक असत्य थ्योरी ही है. जिसे मानवीय मनोरंजन के लिए गढ़ा गया है . ये अलहदा तथ्य है कि “असीमित संभावनाओं से इंकार नहीं किया जा सकता” पराशक्तियाँ भी हैं जो ऐसा कुछ करा सकतीं हैं. अगर परा शक्तियां कुछ कर या सकतीं सकतीं हैं तो केवल इतना कि आपको बीता समय हूबहू स्मरण करा दे अथवा भविष्य की झलक स्वप्न   के रूप में दिखा दे पर भविष्य का स्वप्न केवल आभासी होगा . किशोरावस्था में   असंख्य बार मैंने महसूस किया था कि मैं सायकल और बाइक चला रहा हूँ. ऐसा अनुभव जागते हुए तो कदापि नहीं केवल स्वप्न में यह संभव था . जबकि मुझे जानने वाले सभी जानते हैं कि ऐसा संभव कदापि नहीं है. क्योंकि मेरे दाएं अंग में पक्षाघात है मसल्स हैं ही नहीं शरीर यंत्र का संचलन असामान्य एवं अतिरिक्त गैजेट्स (सहायक-उपकरण) प