सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

ब्लॉग नाटिका लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

दो ब्लागर्स के बीच हुए वार्तालाप असंपादित अंश

पात्र परिचय: मित्र एक ब्लॉगर दो दूजा ब्लॉगर सुविधा के लिए मान लीजिए - दूसरा मित्र मैं ही हूँ....!! स्थान:- जी टाक समय : देर रात गए मित्र वर से अपन ने कहा की भैया -तुपन ने जो ज़ोरदार काम किया किसी ने ने कोई रिस्पोंड ही नहीं किया आज मैं धमाकेदार पोस्ट लिखूंगा । सबको एक्सपोज़ करूंगा जो................. "श........सही................खामोश मित्र बोला " ______________________________________________________ मित्र ने कहा:-कुत्ते को आदमी ने काटा जी हाँ यही तो ख़बर है ... शेष फिजूल की बातें हैं । मित्र आप ने ऐसा कुछ किया हो तो हम चर्चा करेंगे । वर्ना आप जैसे नालायको के नालायकी भरे कारनामों पे क्यों कर हम अपना वक़्त जाया करेंगें । आप तो क्या आपके साक्षात देव तुल्य हुए पुरखों की किसी ऐसी बात पर हम रुख न करेंगें ओर न ही उसे भाव देंगें जिसमें वही घिसी पीती बातें हों युग