सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

जन्म-दिवस लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

डा०विजय तिवारी "किसलय" जन्म दिन की अशेष शुभकामनाएं..

                                            न्यू-मीडिया  के लिये जबलपुर वाले  डा० विजय तिवारी किसलय   जी जिनके ब्लाग  हिन्दी साहित्य संगम जबलपुर   पर आपकी आवाजाही   अक्सर होती होगी उनकी आमद महत्व पूर्ण क्यों न  हो  किसलय जी हैं ही असीम-प्रतिभा के धनी. वे लगातार गतिशील रहतें हैं अगर शहर में कोई साहित्यिक घटना हुई है अथवा होगी तो विजय जी का साक्ष्य आप आसानी से ले सकते हैं अगर वे किसी गम्भीर किस्म की व्यस्तता में न हुए तो.         न्यू-मीडिया पर हिंदी की समृद्धि के लिये जबलपुर से समीरलाल के बाद अगर किसी का नाम लिया जाना है तो किसलय जी का नाम अवश्य लीजिये. ये तो उस बंदे का ब्लाग बना के ही छोड़ते हैं ये अलग बात है कि लोग प्रमाद-वश अथवा वैयक्तिक व्यस्तताओं के कारण की-बोर्ड के ज़रिये लेखन नहीं कर पाते.               इन से मेरा एक बड़ा अनोखा नाता है. जीजा साले का तो अक्सर मैं इनको तनाव देने से बाज़ नही आता... आऊं भी क्यों इनको परेशान करके मैं ये साबित कर देना चाहता हूं कि "सुमन दीदी के भाई दमदार हैं... हा हा हा ...!!                                               पिछले बरस तो ज

अनिता कुमार जी को जन्म-दिवस का संगीत भरा उपहार

अनिता कुमार जी का  जन्म-दिवस 18 मार्च 2010 को आया किन्तु व्यक्तिगत व्यस्तता के कारण वे आन लाइन नहीं हुईं थी. फिर एम टी एन एल की ब्राड-बैंड सेवा ने उनको नेट पर आने न दिया और आज जब वे नेट पर आई तो हमने थमा दिया ये उपहार आप भी खो जायेंगे इस उपहार मंजूषा को खुलता देख मुझे यकीन है ......आपको यकीन न हो तो लगाइए एक चटका नीचे डिव-शेयर प्लेयर पर या एक क्लिक संवाद एवं विमर्श पर किन्तु एक महत्त्व पूर्ण सूचना यह देनी ज़रूरी कि अनिता जी का सबसे  मनपसंद गीत फिल्म मेरे महबूब फिल्म से है  जिसे यहां यू-ट्यूब पर देखा-सुना जा सकता है   आभारी  हूँ :- इन डाट काम का और श्री बी एस पाबला जी के इस प्रयास का  और  अब आपका जो इसे सुन रहे हैं