सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

अक्तूबर, 2017 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

एम्पायर टाकीज़ के लिए दुःखी हुई शेकटकर जी की कलम

स्व प्रेमनाथ के ऐतिहासिक एम्पायर का खण्डर हो जाना स्मार्ट सिटी जबलपुर के नाम पर बड़ा कलंक है।             ब्रिटेन के एलप्रसेड  शेरा के वार एल्बम में आज भी जबलपुर के ऐतिहासिक एम्पायर थियेटर की तस्वीर आज भी मौजूद है। पुरानी तस्वीर बता रही हैं कि यह थियेटर कितना आकर्षक रहा। अंग्रेजी शासन में १९१४ में बना ब्रिटिश शैली में बना अर्ध वृताकार एम्पायर थियेटर पहले नाटकों के लिए बना था। इस थियेटर में ब्रिटेन से आने वाले नाट्य दल अंग्रेजी नाटक का मंचन करते थे।            शेक्सपियर के रोमियो और जूलियट और मेकबेल जैसे नाटक भी इसी एम्पायर थियेटर में मंचित हुए।बाद में इस थियेटर में मूक अंग्रेजी फिल्में भी दिखाई जाने लगी।             फिल्म इंडस्ट्री में जबलपुर को पहचान देने वाले अभिनेता प्रेमनाथ जब पढ़ते थे तब वे एक दिन दीवार फांदकर थियेटर में कूद गये और टिकट की मांग की तो मैनैजर ने उनको कान पकड़कर दीवाल फांदकर ही बाहर जाने के लिए कहा।तब प्रेमनाथ ने जातें जाते मैनेजर से कहा कि देखना मैं बड़ा होकर इस थियेटर को खरीदूंगा ‌          जज्बा जिद्द और जुनून पाले प्रेमनाथ ने २४ फरवरी १९५२ को एम्पायर थि

सोशल मीडिया के ज़हरीले डंक..... ज़हीर अंसारी

आज तक चैनल पर एक प्रोग्राम आता है ' अद्भुत , अविश्वसनीय , अकल्पनीय , । अमूमन यह प्रोग्राम रविवार को आता है जिसे प्रस्तुत करती हैं श्वेता सिंह। शायद उनकी रुचि रहस्य में ज़्यादा है। आज उन्होंने में साँपों के बारे में बताया। वैज्ञानिक , मनोवैज्ञानिक , वन्य जीव और झाड़-फूँक के विशेषज्ञों से बातचीत पर उन्होंने अपनी साँपों की स्टोरी तैयार की और दर्शकों को परोस दी। श्वेता सिंह ने अपनी स्टोरी में कई पहलुओं पर प्रकाश डाला लेकिन सबसे महत्वपूर्ण बात उन्होंने ने   बताई कि साँप की मेमोरी इतनी पुख़्ता नहीं होती कि वह बदले के भावना सालों पाल सके। लेकिन इंसानों की मेमोरी बहुत पुख़्ता होती है। वो शताब्दी पुरानी बातें भी उखाड़कर निकाल लाता है जिसका प्रमाण सोशल मीडिया पर आसानी से देखने मिल जाता है। कुछेक इंसान रूपी साँप अतीत को बातों को याद करके फुँफकारते या डसते रहते हैं। वजह साफ़ है ये साँप नहीं इंसान हैं परंतु इनके भीतर का स्वभाव ज़हरीला बन गया है। जीते वर्तमान में हैं , परिकल्पना भविष्य की करते हैं किंतु अतीत की घटनाओं को लेकर फुँफकारते रहते हैं। सोशल मीडिया पर साधारणदृष्टि डाले तो कोई न को

भारत का विश्व व्यापार

Department of Commerce Export Import Data Bank Export :: Country-wise Dated: 24/10/2017 Values in US$ Million S.No. Country 2016-2017 %Share 2017-2018(Apr-Jul) %Share %Growth 1. AFGHANISTAN TIS 506.34 0.1836 208.47 0.2234 2. ALBANIA 26.45 0.0096 8.85 0.0095 3. ALGERIA 841.89 0.3052 231.90 0.2485 4. AMERI SAMOA 0.08 0.0000 0.15 0.0002 5. ANDORRA 0.14 0.0001 0.24 0.0003 6. ANGOLA 154.63 0.0561 80.43 0.0862 7. ANGUILLA 0.04 0.0000 0.01 0.0000 8. ANTIGUA 1.97 0.0007 1.08 0.0012 9. ARGENTINA 510.72 0.1851 253.15 0.2713 10. ARMENIA 30.33 0.0110 10.95 0.0117 11. ARUBA 7.91 0.0029 2.48 0.0027 12. AUSTRALIA 2,957.79 1.0722 1,174.45 1.2587 13. AUSTRIA 383.16 0.1389 153.93 0.1650 14. AZERBAIJAN 40.27 0.0146 12.92 0.0138 15. BAHAMAS 5.93 0.0022 2.12 0.0023 16. BAHARAIN IS 471.71 0.1710 191.25 0.2050 17. BANGLADESH PR 6,820.11 2.4724 2,053.21 2.2006 18. BARBADOS 12.35 0.0045 5.74 0.0062 19. BELARUS 40.16 0.0146 13.14 0.0141 20. BELGIUM 5,656.89 2.0507 1,849.75 1.9825