मंगलवार, अगस्त 6

इंतज़ार था जिस पल का उस पल को जी कर अमर हो गई

आखिरी सांस तक इंतजार था जा सांस इंतजार कर रही थी जिस पल का उस पल को जी कर अमर हो गई राष्ट्र प्रेम को अभिव्यक्त करने वाली सुषमा स्वराज जी को शत शत नमन उनका आखिरी ट्वीट पढ़ते-पढ़ते निगाह जब टीवी
पर गई विश्वास ना हो सका एक आकर्षक आध्यात्मिक व्यक्तित्व की धनी सुषमा जी को राष्ट्र की महान वक्ता थीं इंदिरा जी अटल जी जैसे वक्ताओं की सूची में शामिल भारत की  चिंतक विचारक श्रीमती सुषमा स्वराज मेरी मातुश्री स्वर्गीय प्रमिला देवी को बेहद पसंद थी वे कहती थी कि अगर विश्व में महान महिलाओं का नाम शामिल किया जाए तो उसमें इंदिरा जी के साथ साथ मैं श्रीमती सुषमा स्वराज जी को महान मानती हूं मेरी मां को भी बहुत रुचि थी महिलाओं की एंपावरमेंट की आइकॉनस को रेखांकित किया करती थी सरोजनी नायडू, सुभद्रा जी, रानी दुर्गावती, लता जी  सिरिमाओ भंडारनायके मार्गरेट थैचर सुषमा स्वराज जी और इंदिरा जी  मेरी स्वर्गीय मां की पसंदीदा एंपावर्ड विमेन आईकॉन थीं ।
      आदर्श तो आदर्श होता है वह किसी पार्टी किसी संप्रदाय किसी दल किसी रंग किसी भाषा का भी हो इससे कोई फर्क नहीं पड़ना चाहिए । क्योंकि मुझ पर मेरे बच्चों पर भी मेरी मातुश्री का गहरा प्रभाव इसलिए  मुझे  स्वर्गीय  श्रीमती सुषमा जी के निधन व्यक्तिगत सी क्षति महसूस हो रही है । आज मैं मानता हूं कि भारत ऐसी विदुषी महिलाओं को उनका स्थान अवश्य देगा । सुषमा जी का वह भाषण जो यूएन में उन्होंने दिया था और पाकिस्तान को बेनकाब किया था उस समय सुषमा जी एक वीरांगना की तरह नजर आ रही थी समकालीन महिलाओं में वह सारी बातें विकसित होती हैं उनके एंपावरमेंट से सुषमा जी उम्र भर सीखतीं रहीं । दक्षिण भारत में जब वे प्रत्याशी के रूप में गई तो उन्होंने वहां की भाषा सीख ली थी । हमारे दौर की नायिकाओं में सुषमा जी को बड़े सम्मान के साथ हर विचारधारा दल जाति से सम्मान मिलेगा यह तो तय है । जो लोग विदेश में किसी भी समस्या में होते थे सुषमा जी का हस्तक्षेप होते ही वे सुरक्षित हो जाते थे महिलाओं के प्रति संवेदनशीलता उनकी महानता को और अधिक प्रभावी बनाती हैं । मित्रों उनके जीवन से कम से कम मैं तो यह सबक ले सका हूं की आप आईडियोलॉजी से कुछ भी हो लेकिन एक बेहतर इंसान होना आपके जाने के बाद भी आप को अमरता प्रदान कर देता है । सुषमा जी जात पात से ऊपर के मुस्लिम बेटी ने भी जब पाकिस्तान से ट्वीट किया था तो उसे बचाने सुषमा जी ने जो किया वह किसे याद नहीं ओम शांति शांति शत शत नमन इस युग की महान महिला को मेरी भावपूर्ण श्रद्धांजलि आज मुझे माताजी का वह कथन भी याद आ रहा है कुछ भी बनो कितने भी बड़े बन जाओ मन से पवित्र रहना सबके प्रति समभाव रखना चाहे तुम्हें कितना भी कष्ट क्यों ना हो उन्हें विनम्र श्रद्धांजलि शत शत नमन

2 टिप्‍पणियां:

HARSHVARDHAN ने कहा…

आपकी इस पोस्ट को आज की बुलेटिन अश्रुपूरित श्रद्धांजलि - सुषमा स्वराज जी - ब्लॉग बुलेटिन में शामिल किया गया है। कृपया एक बार आकर हमारा मान ज़रूर बढ़ाएं,,, सादर .... आभार।।

संजय भास्‍कर ने कहा…

महान नेता और सौम्य एवं शक्तिमय व्‍यक्तित्‍व की स्‍वामिनी सुषमा जी को भावभीनी श्रद्धांजलि