सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

प्रसंग-वश लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

जब हिंदी ब्लाग बंद हो जाएंगे तो क्या होगा...?

ब्लागस्पाट के ज़ीरो पाईंट बनते ही सारे हिंदी ब्लाग जो ब्लाग स्पाट पे हैं कपूर हो जाएंगें...अगर आज़ देर रात तक ये हो गया तो... ? तो क्या " असली वारिस " की सेवा में लग जाएंगे छाछ -माछ सब हासिल होगा उधर. अपने पाबला जी ने बचाव का तरीक़ा बता दिया..   इधर देखिये   तो ज़रा ! हिंदी ब्लागिंग के बंद होते ही विश्व में हिंदी ब्लागिंग का जो होगा सो होगा अपने ललित भैया बोले:-डोमिन व्यापार फ़ल फ़ूल जाएगा.. ? कनिष्क भाई   बोले :- " दूसरी सबसे अहम बात यह है हर रोज का डर . कभी कोई बोलता है , कि भैया .. ब्लॉग बंद होने जा रहा , कोई गूगल ग्रुप पर आश्रित है. कोई फेसबुक पर ही दिन , रात और आंदोलन छेड़ता है और देश बदल देता है. कहाँ है हम लोग ? किस कुएं में . चुकि  परिकल्पना की उपलब्धि यह रहीं कि वह हम सब को एक मंच पर लाने में कामयाब रही है. अतः इस मंच से मैं अपनी व्यथा जाहिर कर रहा हूँ . रविन्द्र जी और तमाम वरिष्ठ जन , जिन्हें दुनियादारी और व्यवस्था की समझ कबीले तारीफ है , उनसे आग्रह करता हूँ , कि हिंदी ब्लॉग के समक्ष कुछ उद्देश्य रखे जाए . कुछ रणनीति बने और कुछ ठोस पहल हो. यह नहीं चलेगा , जिसे