सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

अंतरराष्ट्रीय हिंदी सम्मेलन लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

7 वें अंतरराष्ट्रीय हिंदी सम्मेलन पर एक रिपोर्ट : आशीष कंधवे

वेब पत्रिका से साभार                            सेम रिप , कम्बोडिया , 17 जून , 2013 । 21 वीं सदी के पहले दशक के हिंदी साहित्य , भाषा और इतिहास के विकास की चर्चा एवं अवलोकन करते हैं तो छत्तीसगढ़ राज्य की राजधानी रायपुर स्थित संस्था ‘ सृजनगाथा डॉट कॉम ’ के योगदान को स्वीकारना आवश्यक हो जाता है। वैसे तो हिंदी के उद्भव , शैशव एवं वर्तमान , सभी दौर में छत्तीसगढ़ राज्य ( पूर्व में वृहद् मध्य प्रदेश ) ने यथासंभव योगदान हिंदी के प्रचार - प्रसार एवं उन्नयन में दिया है। हिंदी के प्रचार - प्रसार एवं साहित्य संवर्धन के लिए वैसे तो कई संस्थाएं देश भर में सराहनीय कार्य कर रही हैं परन्तु श्री जयप्रकाश मानस द्वारा स्थापित संस्था सृजनगाथा देश ही नहीं अपितु विश्व के अनेक देशों में हिंदी को प्रतिष्ठित तथा प्रचलित करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली संस्था के रूप में अपनी पहचान बनाने में सफल रही है। प्रयास व्यक्तिगत अथवा सामूहिक जो भी हो , परिप्रेक्ष्य सिर्फ एक