सामूहिक ब्लाग लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
सामूहिक ब्लाग लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

सोमवार, दिसंबर 6

मित्रो अब बहुत लोग साथ हैं एक सामूहिक ब्लाग बना लेते है "लिखिये सोचिये और परतें खोलिये "

                                                 कल की पोस्ट "भ्रष्टाचार मिटाने ब्लागर्स आगे आयॆं." से उत्साहित हूं सो शीघ्र ही एक सामूहिक ब्लाग की ज़रूरत है जिस पर  भ्रष्टाचार के खिलाफ़ एक जनांदोलन को हवा दी जावे. भ्रष्टाचार के विरुद्ध उपलब्ध विद्यमान कानूनों, संस्थानों, की मदद करने और पाने के लिये एक मंच पर सत्योदघाटन किया जावे. समाज़ की हर उस बुराई जो आर्थिक,शारीरिक,मानसिक भ्रष्ट-आचरणों को उज़ागर करेगा, इसकी ज़द प्रजातन्त्र सभी स्तम्भ हों. इस ब्लाग की अपनी एक नियमावली होगी. इसमें राजा रंक सभी एक पलड़े में हों.मित्र गण सहमत हों तो हम सब पवित्र संकल्प और भाव लेकर इस कार्य को अंजाम दें.इस ब्लाग का नाम "सोचिये लिखिये और परतें खोलिये " देना उचित होगा. अगर आप की राय मेरे विचार को आकार दे सकती है तो आइये हाथ से हाथ मिला कर एक चुनौती बन जाएं अपने इर्द-गिर्द के भ्रष्ट आचरणों को मिटाएं. सत्य को उजागर करें भ्रष्टाचारी को क़ानून के हवाले करने में सरकार के हाथ मज़बूत करें.... समाज को सुरक्षा दें. इस ब्लाग पर क्या और कैसे करना है काम सलाह आप ही तो देंगें मित्रो क्या सोचतें है आगे क़दम बढ़ाया जावे ? यदि कोई भारतीय /एन आर आई इस ब्लाग की सदस्यता चाहे तो मेल से अपना पूर्ण विवरण मय फ़ोन नम्बर एवम फ़ोटोग्राफ़ के  ब्लाग की आधिकारिक घोषणा के उपरांत प्रेषित कर सकता है यदि आप सरकारी कर्मचारी हैं तो भी. किंतु व्यक्तिगत विद्वेष को इस ब्लाग पर कोई स्थान न होगा , पोस्ट तथ्यात्मक एवम भारतीय व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने सरकार की भ्रष्टाचार संस्थाओं को मदद पहुंचाने के उदयेश्य से होगी.इस ब्लाग की ज़द में मिला कर सरकारी गैर सरकारी  मामलों को उज़ागर करना होगा.
    तो शुरु करें : सामूहिक ब्लाग " लिखिये सोचिये  और परतें खोलिये "