सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

सर्किट-हाउस लेबल वाली पोस्ट दिखाई जा रही हैं

जबलपुर कार्यशाला के बाद का दिन : मेरी नज़र से

                जबलपुर ब्लागर्स मीट के दूसरे दिन बाटी-भर्ता का माहौल था मेरी काया बुखार से तप रही थी . उधर कण्डों पर सिकी मनभावन बाटियों से वंचित रहा.पापी के भग में कहां पण्ढरपुर खैर दूसरे दिन का अहवाल नीचे आदरणीय साथियों नें पेश किया मज़ा आ गया
         आधिकारिक रपट के बाद : -    श्री समीर लाल की पोस्ट    :- इनसे मिले, उनसे मिले: देखें किनसे मिले
श्री महेंद्र मिश्र जी की पोस्ट :- यार बबाल जी दाल बाटी खाने का तरीका क्या है ?
श्री विजय तिवारी जी :-   सकारात्मक एवं आदर्श ब्लागिंग की दिशा में अग्रसर होना ब्लागर्स का दायित्त्व है : 

जबलपुर ब्लागिंग कार्यशाला पर विशेष
श्री विजय कुमार सप्पती की पोस्ट :- जबलपुर, ब्लागर सम्मेलन:स्नेह भरा अनुभव 
श्री ललित शर्मा जी की पोस्ट      :-  पनघट की पनिहारिन, फ़ाड़ू शायर, रुम नम्बर 120 और गक्कड़ भर्ता -----
     बच्चे पढ़ रहे है श्रीमति जी पीपली लाईव को ध्यान से देख रहीं हैं.वास्तविकता है ग्रामीण भारत की. हम भारतीय हैं ही ऐसे फ़िल्म और सियासत के तिलिस्म से जकड़े नत्था तो रोज़ मिलता है हर गांव में रहता है. खैर छोड़िये ब्लाग पर चर्चा के बाद जब आत्म मंथन किया तो पाया…