श्लेष-अलंकार लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
श्लेष-अलंकार लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

बुधवार, फ़रवरी 23

तोता बोला मैना मौन ?

एक बाल गीत पेश है इस गीत में श्लेष-अलंकार का अनुप्रयोग है  

 











 तोता बोला मैं न  मौन, बात मेरी बूझेगा कौन ?
**************
एक अनजाना एक अनजानी राह पकड़ के चला गया
कैसे नाचे ठुमुक   बंदरिया  बंदर  लड़  के   चला गया
       अपना   ही  जब  रूठा  हो  तो  औरों  से जूझेगा कौन ?                                         
तोता बोला मैं न  मौन, बात मेरी बूझेगा कौन ?
**************
बूढ़े   बंदर   ने   समझाया   काहे   बंदरिया  रोती  है
देह से छोटी होय चदरिया, किचकिच हर घर होती है
      मनातपा  ले    घर  परबिन जोड़ी पूछेगा कौन ?                                 
तोता बोला मैं न  मौन, बात मेरी बूझेगा कौन ?
**************