सेलिब्रिटी लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
सेलिब्रिटी लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

मंगलवार, जुलाई 2

डू यू नो हू एम आय !

अमेरिकन बाला के हाथों
सजती हमारी तस्वीर 
ओबामा : सम थिंग अबाउट
मिसफिट गिरीश मुकुल 
                    दीन दुनिया से बेखबर हमको पता ही न था कि हम भी सेलिब्रिटी बन गये हैं इस बात का पता लगते ही हमने खुद को खुद ही ज़ोर से च्यूँटी काटी पर हमको भरोसा न हुआ सो हमने पड़ोस में बैठे फत्तेदास जी को बोला -"भाई एक लप्पड़ तो मारो हमको ?"
ओबामा : मोर  थिंग अबाउट
मिसफिट गिरीश मुकुल 





Hosted by Galleries.cetrine.net
समीरलाल के साथ
हमारी शिखर वार्ता
की तस्वीर जो विदेशी संग्रहालय
की शान है  
हमारी लोकप्रियता का
ज़लवा 
  वे तो ऐसे मौके की तपास में बैठे ही थे बरसों से बचपन में उनको  अक्सर  लपड़याते थे रिवेंज का सही वक़्त पाते ही हमारे गुलाबी गाल उनके लप्पड़ से सुर्ख लाल हो गया. तब जाके हमको महसूस हुआ कि हम कोई सपना नहीं देख रहे हैं वास्तव में हम सेलिब्रिटी  बन गये हैं. हमारे मे ऐसा को गुन नहीं है कि हम सेलिब्रिटी का ओहदा हासिल कर लें पर हमारे मित्र राजीव तनेजा  ने जो तस्वीरें भेजीं उससे साबित हुआ कि- हम विश्व में कित्ते फेमस हैं । अब देखिये न हमारी तस्वीर अमेरिकन  बाला कितने प्रेम से बना रही है. बनाए भी क्यों न जब  उनके देश के  राष्ट्रपति ओबामा जी  स्वयं हम पर विस्तार से सफ़ेद-घर में प्रेस को बता रहे हों सम थिंग अबाउट मिसफिट गिरीश मुकुल  तना ही नहीं अब  हम जो भी करते हैं उसकी खबर पर नमक मिर्च लगा के हमारे कुछ चुगलखोर टाईप के  मित्र हमारा मज़ाक उडाते थे पर अब - भाई अब तो स्थिति उलट है   न्यूज़ चैनल वाले , अखबार वाले हमारे वर्ज़न के बिना समाचार प्रकाशित ही नहीं करते हम भी पुराने डिबेटर रहे हैं डी.एन. जैन कालेज वाले कुछ भी आंय-बांय बक देतें हैं. सभी लोग ऐसा ही करते हैं है न टीवी पर आपने बहस तो देखी होगी यही सब दिखाते हैं. जब हम टी वी पर अपना वक्तव्य दे रहे होते हैं तब अमेरिका सहित सभी  देशों के घरों में पली बिल्लियां तक  हमारा तन्मयता से अवलोकन करतीं हैं । कुत्ते भी करते होंगे कौन जाने  .
                             हां एक बात बताना रह गया कि- मशहूर चिट्ठाकार  समीरलाल के साथ हमारी शिखर वार्ता की तस्वीर विदेशी संग्रहालय की शान बन चुकी है जानते हैं किस विषय पर बात कर रहे थे हम ... चलिये छोड़िये  बात निकलेगी तो दूर तलक जाएगी . एक सूचना सुधि पाठक जान लें की मेरी पहली और  आख़िरी फिलम  ग़दर-पार्ट 2    अब शीघ्र रिलीज़ हो जाएगी तब तक आप लोग पोस्टर देखिये 
कल जब ये फिलम रिलीज़ होगी
तब दुनिया का हर  फिल्म
एवार्ड हमारे नाम होगा  
  

                       तस्वीरों में आप ने हमारा जलवा देखा जिसे देख  आपके पास से जलने की गंध आ रही है. तभी तो  पूछ   रऐ हो  कि- हम सेलिब्रिटी  क्यों बने ? 
भाई, फत्तेदास जी कोई सेलीब्रिटी खुद बनाता   है का ...? बना जाता है । नत्थू लाल की मूंछों ने नत्थू को सेलीब्रिटी बनाया मंटू से  पूछो की लोग पिट के बन जाते हैं अरे हम सेलीब्रिटी बन गए तो आपको काहे अजमेरी कीड़ा काट रहा है.. तो उसपे सवाल काहे दाग रए हो भैया । .. अच्छा एक बात बताओ जितने लोग सेलेब्रिटी हैं उनमें क्या खूबी है.. कुछ नईं न तो हम में क्यों खूबियां तपासते हौ.. भैये 
 

नोट : भाई पद्म सिंह भाई राजीव तनेजा ,ललित शर्मा को आलेख समर्पित है
बाकी सबको अर्पित है