बाल गायिका लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
बाल गायिका लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

सोमवार, नवंबर 24

बाल गायिका जयालक्ष्मी में मौज़ूद सुरसाधना के दैवीय गुण


16. नवंबर 2014 को एक वीडियो अचानक मुझे फ़ेसबुक पर देखने को मिला. फ़ेसबुक पर अलाहाबाद के किसी सदस्य श्री महेश सेठ जी ने शेयर किया था.  वीडियो में एक बेटी ने पंडित नरेंद्र शर्मा  के गीत “सत्यं शिवम सुंदरम ”  गाया था.  अनोखी आवाज़ उम्र भी कोई खास नहीं. मुझे लगा नौ-दस बरस से अधिक क्या होगी. 
हम सभी हतप्रभ थे, आवाज़ अनोखी एवम रेशमी सी.. अटूट संभावनाओं से भरी इस आवाज़ को बहुतों ने सुना. उसी दिन से मेरी तलाश [ जो सिर्फ़ नेट तक सीमित थी ] शुरु हुई.  सरस्वती की कृपा पात्र बेटी के बारे में जानने की इच्छा बलवति हुई. वीडियो एंबेड कर तुरंत किलकारी ब्लाग  [ http://kilakari.blogspot.in ] चस्पा कर दिया. रोज़ उसे सुनने लगा. हज़ारों लोगों  को यह आवाज़ मोहित करती है . फ़िल्म सत्यं-शिवम-सुंदरम का यह गीत वास्तव में पंडित नरेंद्र शर्मा का कालजयी गीत है. लता दीदी के मानस भाई पंडित नरेंद्र शर्मा ने यह गीत तब लिखा जब स्वयं उनके अंतस का कवि सत्य की तलाश में शब्दों से अक्षरों से भाव प्रदेश में संवाद कर रहा होगा. तब शायद स्वयं शिव ने उनमें समा कर इस गीत की रचना की होगी. गीत विशुद्ध रूप से जीवन का दर्शन है, अध्यात्म है, उनकी पुत्री मेरी चिट्ठाकार मित्र श्रीमति लावण्या शाह ने इस गीत के रचना काल एवम रचना काल की परिस्थियों पर ज़िक्र किया था जिसका सार ये है कि गीत एक महान आध्यात्मिक-अभिव्यक्ति है.
सत्यम-शिवम- सुंदरम के टायटल गीत को लेकर मेरी मान्यता ये है कि - किसी भी गायक के लिये इतना शुभ होता है कि तुरंत उसे आशीर्वाद मिलता है.. फ़िल्म सत्यं-शिवम-सुंदरम के हिट होने में इस गीत का अविस्मरणीय अवदान किसी से छिपा नहीं है. 
 आभास जोशी जैसे  वर्स्टाइल सिंगर को इसी गीत ने ऊर्ज़ा दी थी . सिंगर्स चाहें तो आज़मा कर देख सकते हैं.  
केरल के अलप्पी जिले के पल्लीपुरम की 11 वर्ष की जयलक्ष्मी 03.03.2003 को जन्मी. मां प्रीता जयकुमार  से सुर साधना का पहला पाठ सीखा .  पिताश्री जयकुमार   [ एक्स सर्विसमैन भारतीय सेना ]  लेकिन जयलक्ष्मी के  गुरु ने ज्यों ही वाट्सअप पे अपलोड किया वीडियो तुरंत वायरल हो गया.  इसे डा. कुमार विश्वास ने हाथौं हाथ लिया और प्रमोट भी किया . 
प्रशांत ने भी किया कमाल – 
पल पल इंडिया  की मानें तो व्हाट्सएप्प से पहले किसी परिचित के माध्यम से मुंबई में रहनेवाले वाइस ओवर आर्टिस्ट और प्ले बेक सिंगर प्रशांत जी को यह वीडियो प्राप्त हुआ था.उन्होंने 17 नवंबर को इसे यू ट्यूब पर अपलोड कर दिया.प्रशांत ने ही उस आवाज़ में सुनहरे कल को जाना पहचाना और ठाना कि इस आवाज़ को जन जन तक पहुंचाएं . प्रशांत ने इसे यू ट्यूब के अलावा सोशल मीडिया फ़ेसबुक, व्हाट्सएप्प, और अपने मेल से निरंतर   कैम्पेनिंग की . बावज़ूद इसके कि वे तेज़ बुखार में थे.  प्रशांत जी ने  चार रात दिन और रातें जगते-जगते आज बुखार से होने की खबर की पुष्टि करते हुये मुझे फ़ोन पर आज बताया कि –“मैं बिटिया की योग्यता पर मोहित एवम भावुक इस हद तक था कि उसे किसी न किसी तरह एक मुक़ाम हासिल हो.. आज़ मैं बेहद खुश हूं.. ” सोशल-मीडिया पर वायरल हुआ वीडियो 
  यू ट्यूब चैनल के यूज़र पवन आर चावला यह वीडियो   छै दिन पहले अपलोड कर चुके थे. किंतु प्रशांत ने उसे लोगों तक बांटने का ज़िम्मा लिया  . 
जया  लता जी को आदर्श मानती है. लता जी ने बेटी जया की तारीफ़ करते हुए रियाज़ पर ज़ोर देने सलाह के साथ आशीर्वाद दिया .
ज़ी टी.वी. ने सुर की संभावना जया को पब्लिक के सामने पेश किया बेशक अद्वितीय काम किया. टीम को बधाईयां . किंतु ज़ी टी.वी. पर मौज़ूद जस्पिंदर नरूला एवम लता दी की सलाह को पूरा परिवार एवं स्वयं जया को माननी होगी … कि यश सदा मानस से हटा देना चाहिये . ताकि साधना जारी रहे. महान कलाकार होने का भ्रम साधना को खंडित कर देती है.  ललित्या सी.ई.ओ. रेडरिबन म्यूज़िक  ने अपने  " रेडरिबन म्यूज़िक कंपनी " से एक एलबम निकालने की घोषणा भी की है. 
सपना अवस्थी ने आवाज़ में परिवर्तन की ओर आगाह करते हुए.. सलाह दी है कि साधना सदा जारी रहे .

मलयाली भाषी इस बिटिया जैसी प्रतिभाएं कम नहीं हैं. पर इनको पहचान दिलाने में ऐसी ही पहल होनी जाहिये . रीयलिटी शोज़ प्रतिभाएं सामने ला रहे हैं किंतु उनकी अपनी  व्यवसायिक मज़बूरियां हैं.  सीमा हैं…