चैनल V लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
चैनल V लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

गुरुवार, सितंबर 4

चैनल V के दिल दोस्ती डांस में नवोदित सितारा : आशुतोष बिल्लोरे


 खरगौन जिले के भीकनगांव कस्बे में बतौर  पंडित राजेंद्र बिल्लोरे अपने बेटे को किसी ऐसे अच्छे प्रोफ़ेशन में डालना चाहते थे जिससे बेटे को आर्थिक-समृद्धि एवम  सामाजिक तौर पर  प्रतिष्ठा दे सके. सामान्यरूप से ऐसा मंज़र आम मध्य-वर्ग परिवारों में होता है. किंतु  पिता माता ने आशुतोष की कला को सर्वोपरि रखा और 11वीं के बाद कला-साधना को साधन और अवसर देने के लिये इंदौर जाने की अनुमति दे दी. जहां उन्हैं बी.काम. की पढ़ाई के साथ साथ पर्फ़ार्मिंग कला के विस्तार के अवसर मिले. मध्य-प्रदेश टेलेंट शो, मलवा कला अकादमी, डांस इंडौर डांस, आइ.आइ.एम इन्दौर, डांश का महा संग्राम जैसी प्रतियोगिताओं में बेहद प्रसंशा एवम अव्वल स्थान अर्जित किये. इंदौर में ही जावेद जाफ़री, गीता कपूर, धर्मेष  कुंवर अमर, जैसी हस्तियों ने आशुतोष की कला साधना को सराहा और सतत साधना जारी रखने की सलाह दी.
        आशुतोष ने भारतीय और विदेशी शैली में नृत्य एवं अभिनय को अपनाया. पर अपने जन्म भूमि भीकनगांव में कला-साधकों के लिये लगातार कई शार्ट-टर्म-कोर्स, वर्कशाप आयोजित कीं.
        भीकनगांव के स्कूल शिक्षक का बेटा जब मायानगरी गया तब उसके साथ संकल्प थे , संघर्ष था और थी आत्मविश्वास की पोटली. “दिल दोस्ती डांस” के आडिशन में उसे स्किल्ड कलाकार के रूप में देखा और तुरंत  आफ़र कर दिया. अब तक आशुतोष बिल्लोरे के चैनल v पर छै से अधिक एपीसोड टेलिकास्ट हो चुके और शूटिंग जारी हैं.
आशुतोष का मानना है- “अभी आगे और भी आसमान हैं.. संघर्ष और साधना” से ही उन तक पहुंचा जा सकता है.
जबलपुर से जुड़ाव है आशुतोष का
आशुतोष जबलपुर से जुड़े हैं. उनके मामा श्री विकास टेमले एवम मेरे परिवार से करीबी रिश्ता रखने वाली इस प्रतिभा ने जबलपुर में अपने प्रतिभा-प्रदर्शन का आश्वाशन दिया है.
               आशुतोष का संकल्प है कि वे कोरियोग्राफ़ी को करियर के रूप में आगे अपनाएंगे.