पत्नि लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
पत्नि लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

रविवार, जनवरी 23

फ़त्ते जी को तलाक की राह मिल गई

शीला जी
फत्ते जी मेरे अभिन्न मित्र हैं कई दिनों के बाद मुलाक़ात हुई सो बस चुहल की गरज से अपने राम ने छेड़ दिया उनको . पूछ लिया उनकी नई प्रेमिका के बारे में. पूछा क्या बता कि मिस शीला सच बहुत प्यार करतीं हैं आपसे !
 '' जी सच है उनको मुझसे बहुत प्रेम है हो भी क्यों न हम भी तो उनसे बहुत प्रेम करते है , विपरीत के बीच आकर्षण तो विज्ञान ने भी सिद्ध कर दिया अब आप ही बताएं. कोई झूठ तो नहीं होगी मेरी बात ?
जी सही है ....! आप झूठ बोलते ही कहाँ हैं ? तो अब बताएं ज़नाब कब मिले थे उनसे ?
''क्या बताऊँ भाई, बीबी से अनबन क्या हुई हमने बहाना किया कि सरकारी टूर पे जाना है और बस चले गए उनके नशेमन में ''
फ़त्ते जी का स्वप्न
कल रात से उनके पास ही थे हम . ?
खूब आदर सत्कार हुआ होगा ?
जी, बहुत.. मेरा ख़ास ख़याल रखा उनने . खूब बातें हुईं . ग़ज़ल शायरी सब कुछ सुनी सुनाएँ हमने उनको और उनने हमको.
जी ये तो हुआ ही होगा. बताएं कुछ खिला-पिलाया के बस भूखे टल्ला रहे हो..?
''अरे मुकुल भाई , क्या बात करते हो, लज़ीज़ खाना था और हाँ मालूम है डिनर पर लंच में,सुबह शाम के नाश्ते के दौरान वे हमें बड़ी मंहगी चीज़ सुन्घातीं रहीं  पता नहीं कितने जतन से से सम्हाल के रखीं हुईं थी कबसे सम्हाल के रखा था उनने वो प्याज जिसकी खुशबू ने हमारी मुलाक़ात को कुछ अधिक रूमानी बना दिया मुकुल भाई सच वे तो हमारी राधा हैं राधा ''
''पर भाभी से झगड़ा काहे हुआ ..जो शीला ओह राधा रानी के पहलू में जाना हुआ कन्हाई का ?''
''बस इसी बात को लेकर कि गुप्ता जी शर्मा जी वगैरा सब तीज त्योहारों में प्याज ले आते हैं और एक आप हैं नामुराद कितने  बेरहम पत्थर दिल पति हैं बस हमारी गैरत ने ललकारा और हम निकल पड़े प्याज खरीदने कि हमारी राधा से बाज़ार में भेंट हो गई . बस उनने हमको न्यौता  हम कल दिए राधा जी के पीछे पीछे .
हमने पूछा - तो फत्ते साब, अभी किधर जा रहें हैं ?
कुछ नहीं उकील साब के यहाँ ?
क्यों,?
तलाक लेंगे तुम्हारी भाभी से ?
इस आधार पे तलाक मिल जाएगा कि वे सदा प्याज की मांग करतीं हैं ?
"किस दुनियाँ में रहते हो मुकुल भाई ! मालूम नहीं आपको, सुना है कि आज जब श्री ....... जी की अदालत में एकतरफा तलाक मिलतें हैं अगर पति या पत्नी के बीच प्याज को लेकर कोई तनाव हो जाए. अखबार में देखा नहीं आपने जज साब ने आर्त भाव से गिलाबिल वर्सेज़ श्रीमती..... वाले मामले में फैसला दिया था कि सुखद दाम्पत्य के लिए सब कुछ स्वीकार्य है सिर्फ प्याज की मांग को छोड़ कर
नोट - इस पोस्ट में उपयोग किये गये चित्र गूगल के ज़रिए क्रमश: भास्कर एवम तीसरा खम्बा ब्लाग ब्लाग से साभार लिया है आपत्ति की दशा में सूचित कीजिये ताक़ि चित्र और आभार अपने अपने स्थान पर पहुंच जाएं