शुक्रवार, नवंबर 8

आप शांति दूत हैं : हिंदुस्तान महफूज रहेगा

हिंदुस्तान की तासीर है कि वह विश्व में खुद को एक ऐसी जम्हूरियत के तौर पर पेश करें जहां बस अमन हो बेशक अमन पसंद लोगों का वतन इस बार भी अपनी वही छवि और लोगों के सामने पेश करेगा जो इलाहाबाद हाईकोर्ट के पहले और बाद में पेश हुई थी । विश्व के बहुत सारे देश और हर हिंदुस्तान को समझने वाला इंसान स्तब्ध है कि कल क्या होगा । दोस्तों कल और कल के बाद हिंदुस्तान हिंदुस्तान रहेगा जैसा हिंदुस्तान था । इसमें कोई शक नहीं कि सैकड़ों वर्षा से तिरंगे की शान बरकरार है बरकरार रहेगी यह हिंदुस्तान की हवाओं की तासीर है । कल जो फैसला आना है आने दीजिए हम पूरे सम्मान के साथ उस फैसले को स्वीकार करेंगे । हमारी नस्लें आने वाले फैसले को और उसके बाद की परिस्थितियों को स्वीकार स्वीकारेंगी । आशावादी हूं पूरा हिंदुस्तान एक रहेगा सुप्रीम कोर्ट कल यानी 9 नवंबर 2019 को जो फैसला देगा उसका असर भी पॉजिटिव ही होगा । यह अलग बात है कि लोग जो सवाल उठाने के आदी हैं वे अपनी हरकतों से बाज नहीं आते परंतु जब देश के जम्हूरियत और अमन पसंद लोग जिनकी संख्या सबसे ज्यादा है जरूर ऐसी ताकतों के खिलाफ एकजुट होंगे और समाज की देश की आंतरिक एकता को मजबूत बना देंगे
। उन जम्हूरियत पसंद अमन पसंद लोगों में आप शामिल है राष्ट्रीय हित में कल और आने वाले दौर को खुशनुमा बनाएं ।
सर्वे भवन्तु सुखिनः सर्वे सन्तु निरामयाः,
सर्वे भद्राणि पश्यन्तु मा कश्चिद् दुःख भाग्भवेत्।
ॐ शांतिः शांतिः शांतिः

कोई टिप्पणी नहीं: