मंगलवार, दिसंबर 20

जबलपुर में एक लाख से अधिक स्कूली बच्चों ने रचा इतिहास : श्री अभिमनोज

जबलपुर. ‘‘हम सब ने ये ठाना है शहर को नम्बर 1 बनाना है’’ जैसे नारों के साथ शहर के एक लाख से अधिक स्कूली बच्चों ने आज इतिहास रच दिया. शहर के 448 शासकीय और अशासकीय स्कूलों में पढ़ने वाले विद्यार्थी पूरे उत्साह के साथ सड़कों पर आये और बड़ों को स्वच्छता का संदेश दिया. स्वच्छ भारत अभियान के अंतर्गत जबलपुर को साफ सुथरा रखने और देश में जबलपुर को प्रथम स्थान दिलाने इस महाअभियान का आयोजन किया गया. कहीं हाथों में बैनर पोस्टर लेकर विद्यार्थियों ने स्व्च्छता का संदेश दिया तो कहीं छात्र छात्राओं ने आम लोगों और व्यापारियों को डस्ट बिन का उपयोग करने के लिए प्रेरित किया.
स्वच्छता को लेकर पहली बार आयोजित इस व्यापक जागरूकता अभियान के दौरान महापौर डॉ श्रीमती स्वाती सदानंद गोडबोले, एमआईसी सदस्य और निगमायुक्त श्री वेदप्रकाश भी स्कूली विद्यार्थियों के बीच पहुंचे और उनका उत्साह बढ़ाया. महापौर ने कहा कि स्वच्छता को लेकर स्कूली विद्यार्थियों में आई जागरूकता समाज के लिए अच्छा संकेत है और उनके माध्यम से बड़े भी साफ सफाई के प्रति प्रेरित होंगे . स्वच्छता क्रांति का नजारा एक ही समय में शहर भर के स्कूली विद्यार्थियों द्वारा सड़कों पर आ जाने से पहली बार स्वच्छता क्रांति का एहसास हुआ. भविष्य को लेकर स्कूली बच्चोंकी चिंता और जागरूकता को देखकर बड़े भी प्रेरित हुए और उन्होंने विद्यार्थियों के हौसले और जज्बे को सराहा.
स्वच्छता को लेकर शहर में बड़ें पैमाने पर पहली बार हुए जागरूकता अभियान की सफलता पर महापौर डॉ श्रीमति स्वाती सदानंद गोडबोले और निगमायुक्त श्री वेदप्रकाश ने सहभागिता करने वाले सहयोग के लिये जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन का आभार व्यक्त किया है . महापौर ने आशा व्यक्त की है कि स्वच्छता के प्रति जागरूकता लाने के लिये इस अभियान से समाज पर सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा और नागरिकों में सफाई के प्रति गंभीरता आएगी.

इस अवसर पर महापौर डॉं. श्रीमती स्वाती सदानंद गोडबोले, मेयर इन काउंसिल के सदस्य श्री मनप्रीत सिंह आनंद, श्री कमलेश अग्रवाल, श्री श्रीराम शुक्ला, श्री नवीन रिछारिया, श्री रमेश प्रजापति, श्रीमती दुर्गा देवी उपाध्याय, श्रीमती रेखा सिंह ठाकुर, श्रीमती इन्द्रजीत कौर कुंवरपाल सिंह शेरू, श्रीमती वीणा रजनीश जैन, श्रीमती ज्योति कुरील, पार्षदगण, निगमायुक्त श्री वेदप्रकाश, अपर आयुक्त श्री गजेन्द्र सिंह नागेश, श्री रोहित सिंह कौशल, उपायुक्त श्री राकेश अयाची, श्री जी.एस. बघेल, श्रीमती अंजू सिंह ठाकुर के साथ साथ सभी नगर निगम के विभागीय प्रमुख, संभागीय अधिकारी, तथा समस्त मुख्य स्वास्थ्य निरीक्षकों ने भी स्कूलों के प्राचार्यो तथा प्राध्यापकों के साथ बच्चों का उत्साहवर्धन कर उनकी निगरानी की.

कोई टिप्पणी नहीं: